top of page
खोज करे

MPPT आधारित ऊर्जा उत्सर्जक(Mppt harvester)

MPPT (अधितम पावर पॉइट ट्रैकिंग) आधरित ऊर्जा हार्वेस्टर एक ऐसा उपकरण हैं।जिसका निर्माण सौर पैनल या पवन चक्की जैसे ऊर्जा स्रोतो से अधिक ऊर्जा बनाने के लिए किया गया है। इस Blog मे यह बताया गया ही कि यह Mppt harvester किस तरह काम करता है। 

MPPT (अधितम पावर पॉइट ट्रैकिंग) आधरित ऊर्जा हार्वेस्टर एक ऐसा उपकरण हैं।जिसका निर्माण सौर पैनल या पवन चक्की जैसे ऊर्जा स्रोतो से अधिक ऊर्जा बनाने के लिए किया गया है। इस Blog मे यह बताया गया है कि यह Mppt harvester किस तरह काम करता है। 


उद्देश्य - एमपीपीटी का उद्देश्य सूर्य ऊर्जा से अधिक से अधिक ऊर्जा  बनाना होता है। इसलिए एमपीपीटी का उपयोग करना आवश्यक होता है। क्योंकि सोलर पैनल और पवन चक्की भिन्न-भिन्न वातावरणीय परिस्थितियों के अनुसार कम या ज्यादा ऊर्जा बन पाते हैं। जैसे दिन की शुरुआत सूर्य की कम ताप वाली किरणों से होती है  जो दिन बढ़ने के अनुसार दोपहर तक बढ़ जाती है और पुनः दोपहर से शाम तक सूर्य का प्रकाश घटते घटते शाम तक खत्म हो जाता है इस प्रकार सूर्य के प्रकाश में निरंतरता ना रहने के कारण सोलर पैनल के द्वारा उत्सर्जित ऊर्जा में भी निरंतरता नहीं रहती है एमपीपीटी का मुख्य उद्देश्य इस बदलती परिस्थितियों में अधिक से अधिक ऊर्जा उत्सर्जन करना होता है


कार्य - एमपीपीटी उपकरण ऊर्जा स्रोत के आउटपुट की लगातार जांच करता है और जरूरत के अनुसार पैरामीटर में बदलाव करके यह सुनिश्चित करता है कि उपकरण अधिकतम ऊर्जा बिंदु पर संचालित हो इस बिंदु को (एमपीपी) अधिकतम पावर बिंदु के रूप में जाना जाता है


तकनीक - ऊर्जा स्रोत के प्रकार के आधार पर एमपीपीटी के लिए कई तकनीकों का उपयोग होता है।


बदलाव और निरीक्षण (P&O)- यह विधि ऑपरेटिंग पॉइंट को थोड़ा बदलती है और देखती हैं कि यह ऊर्जा उत्पादन को कैसे प्रभावित करती है परिवर्तन की दिशा के आधार पर उपकरण( ऊर्जा में वृद्धि या कमी)  के अधिकतम पावर बिंदु को निर्धारित करती है


वर्द्धि संबंधी चालकता - यह विधि एमपीपी निर्धारित करने के लिए पावर- वोल्टेज चालकता का उपयोग करती हैं।


हिल क्लाइम्बिंग - यह विधि P&O के समान होती है लेकिन बदलाव वोल्टेज परिवर्तनों के बजाय शक्ति परिवर्तनों पर आधारित होती है।


मॉडल प्रेडिक्टिव कंट्रोल (MPC) - इस विधि में उपकरण उपयुक्त ऑपरेटिंग पॉइंट का पता पूर्व से निर्धारित सिस्टम मॉडलों के आधार पर करता है।


लाभ


बढ़ती हुई कार्य कुशलता - एमपीपीटी बदलते वातावरणीय परिस्थितियों में भी अधिकतम ऊर्जा बनाने में मदद करता है


बढ़ता हुआ ROI - एमपीपीटी के उपयोग से अधिक ऊर्जा प्राप्त होती है।


संक्षेप में, एमपीपीटी आधारित ऊर्जा उत्सर्जक नवीकरणीय ऊर्जा प्रणालियों की कार्य कुशलता को अधिकतम करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं, जिससे यह सुनिश्चित होता है कि वे विभिन्न वातावरणीय परिस्थितियों में अपने अधिकतम विद्युत उत्पादन पर काम करते हैं।


Solar energy

MSV Electronics Pvt Ltd

45 दृश्य0 टिप्पणी

Comments


bottom of page